20 Free छठ गीत Chhath geet lyrics audio video written

20 Free  छठ गीत  Chhath geet lyrics  audio video written


छठ पर्व तिथि एवं महत्वपूर्ण समय 2021

छठ पर्व या छठ पूजा कार्तिक शुक्ल षष्ठी से कार्तिक शुक्ल सप्तमी तक मनाया जाता है यह पर्व चार दिनों तक चलता है यह पर्व दिपावली के बाद मनाया जाता है।यह पर्व मुख्य रुप से बिहार उत्तरप्रदेश और दिल्ली में मनाया जाता है धिरे धिरे यह पर्व झारखण्ड और छत्तीसगढ़ में भी मनाया जाने लगा है। 

छठ पूजा में सूर्य देव और छठी मैया की पूजा व उन्हें अर्घ्य देने का विधान है। छठ भारत मे वैदिक काल से ही मनाए जाने वाला बिहार का प्रसिद्ध पर्व है। षष्ठी तिथि के प्रमुख व्रत को मनाए जाने के कारण इस पर्व को छठ कहा जाता है। इस दौरान व्रतधारी लगातार 36 घंटे का व्रत रखते हैं। इस दौरान वे पानी भी ग्रहण नहीं करते।


छठ पूजा में सूर्य देव और छठी मैया की पूजा व उन्हें अर्घ्य देने का विधान है। छठ भारत मे वैदिक काल से ही मनाए जाने वाला बिहार का प्रसिद्ध पर्व है। षष्ठी तिथि के प्रमुख व्रत को मनाए जाने के कारण इस पर्व को छठ कहा जाता है। इस दौरान व्रतधारी लगातार 36 घंटे का व्रत रखते हैं। इस दौरान वे पानी भी ग्रहण नहीं करते हैं।


नहाय खाये

8 November 2021
तिथि: कार्तिक शुक्ल चतुर्थी
छठ पर्व का प्रथम दिन जिसे नहाय-खाय के नाम से जाना जाता है। इस दिन सर्वप्रथम घर की सफाई कर उसे पवित्र किया जाता है। उसके उपरांत व्रती अपने निकटतम नदी अथवा तालाब में जाकर स्वच्छ जल से स्नान करते है। व्रती इस दिन सिर्फ एक बार ही खाना खाते है। तला हुआ खाना इस व्रत मे पूर्णरूप से वर्जित हैं. यह खाना कांसे या मिटटी के बर्तन में पकाया जाता है।

खरना और लोहंडा9 November 2021

तिथि: कार्तिक शुक्ल पंचमी
छठ पर्व का दूसरा दिन जिसे खरना या लोहंडा के नाम से जाना जाता है। इस दिन व्रती पूरे दिन उपवास रखते है, सूर्यास्त से पहिले पानी की एक बूंद तक ग्रहण नहीं करते हैं। शाम को चावल गुड़ और गन्ने के रस का प्रयोग कर खीर बनाई जाती है। इन्हीं दो चीजों को पुन: सूर्यदेव को नैवैद्य देकर उसी घर में एकान्त-वास करते हुए ग्रहण किया जाता है।

सभी परिवार जनों, मित्रों एवं रिश्तेदारों को प्रसाद स्वरूप खीर-रोटी दिया जाता हैं। इस सम्पूर्ण प्रक्रिया को खरना कहते हैं। इसके उपरांत व्रती अगले 36 घंटों के लिए निर्जला व्रत धारण कर लेता है। मध्य रात्रि को व्रती पूजा के लिए विशेष प्रसाद रूप मे ठेकुआ नमक पकवान बनाता है।

संध्या अर्घ्य10 November 2021

तिथि: कार्तिक शुक्ल षष्ठी
छठ पर्व का तीसरा दिन जिसे संध्या अर्ग के नाम से जानते हैं पूरे दिन सभी परिवार के सदस्य मिलकर  पूजा की तैयारियां करते हैं। छठ पूजा के लिए खास पकवान जैसे ठेकुआ, कचवनिया(चावल के लड्डू) बनाए जाते हैं। छठ पूजा के लिए एक बांस की बनी हुयी टोकरी  में पूजा के प्रसाद, फूल,फल आदि डालकर देवकारी में रखा जाता है।

वहीं पूजा पाठ करने के बाद शाम को एक सूप में नारियल, पांच प्रकार के फल और पूजा का अन्य सामान लेकर दउरा में रख कर घर के पुरुष अपने सिर पर उठाकर छठ घाट पर ले जाते हैं। इस पर्व मे सुद्धता का खास ध्यान रखा जाता है। इस संपूर्ण आयोजन मे महिलाये प्रायः छठ मैया के गीतों को गाते हुए घाट की ओर जातीं हैं।

नदी के किनारे छठ माता का घाट बांधकर  उसपर पूजा का सारा सामान रखकर पूजा किया जाता है उसके बाद सूर्यास्त से कुछ समय पहले, पूजा का सारा सामान लेकर नदी या तालाब के पानी में जाकर खड़े होकर, डूबते हुए सूर्य को अर्ग दिया जाता है और पांच बार परिक्रमा की जाती है।

उषा अर्घ्य11 November 2021

तिथि: कार्तिक शुक्ल सप्तमी को चौथा और अंतिम अर्ग सुबह उगते सुरज को दिया जाता है।इस दिन सूर्योदय के पहले ही सभी छठ व्रती स-परिवार घाट पर पूजा के लिए एकत्र हो जाते है।

गीत १ – काच्चे ही बांस के बहंगिया छठ गीत

CHHATH GEET LYRICS


काच्चे ही बांस के बहंगिया ,

बहंगी लचकत जाए,,,,,,,,,,,२

होए ना बलम जी कहरिया  ,

बहंगी घाटे पहुंचाए,,,,,,,,,,,,,२

कांच ही बांस के बहंगिया,

बहंगी लचकत जाए,,,,,,,,,,,,,२

बाट जे पूछे ना बटोहिया ,

बहंगी केकरा के जाय,,,,,,,,,,,२

तू तो आंध्र होवे रे बटोहिया ,

बहंगी छठ मैया के जाए,,,,,,,,,,,,,,२

वह रे जे बाड़ी छठी मैया ,

बहंगी उनका के जाए,,,,,,,,,,,,,,,,,,,२

कांच ही बांस के बहंगिया

बहंगी लचकत जाए,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,२

होए ना देवर जी कहरिया ,

बहंगी घाटे पहुंचाई ,,,,,,,,,,,,,२

वह रे जो बाड़ी छठी मैया

बहंगी उनका के जाए ,,,,,,,,,,,,२

बाटे जे पूछे ना बटोहिया

बहंगी केकरा के जाय ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,२

तू तो आन्हर  होय रे बटोहिया

बहंगी छठ मैया के जाए ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,२

वह रे जय भइली छठी मैया ,

बहंगी उनका के जाए,,,,,,,,,,,,,,,,,,,२


2. – केलवा के पात पर उगे लन सुरुजमल

CHHATH GEET LYRICS

केलवा के पात पर उगे लन सुरुजमल झांके – झुके।

केलवा के पात पर उगे लन सुरुजमल झांके – झुके। ।

के करेलू छठ बरतिया से झांके – झुके।

के करेलू छठ बरतिया से झांके – झुके। ।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया के केकरा लागी,

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया के केकरा लागी। ।

 के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी।

 के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी। ।

हमरो जे बेटवा तोहन अइसन बेटावा से उनके लागी।

हमरो जे बेटवा तोहन अइसन बेटावा से उनके लागी। ।

से  करेली  छठ बरतिया से उनके लागी।

से  करेली  छठ बरतिया से उनके लागी। ।

अमरूदिया के पात पर उगे लन सुरुजमल झाके – झुके।

अमरूदिया के पात पर उगे लन सुरुजमल झाके – झुके। ।

के करेलू छठ बरतिया से झाके – झुके।

के करेलू छठ बरतिया से झाके – झुके।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया के केकरा लागी।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया के केकरा लागी।

के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी।

के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी। ।

हमरो जे स्वामी तोहन अइसन स्वामी से उनके लागी।

हमरो जे स्वामी तोहन अइसन स्वामी से उनके लागी।

से  करेली छठ बरतिया के उनके लागी।

से  करेली छठ बरतिया के उनके लागी।

नारियर के पात पर उगे लन सुरुजमल झाके – झुके।

नारियर के पात पर उगे लन सुरुजमल झाके – झुके। ।

के करेली छठ बरतिया से झांके – झुके।

के करेली छठ बरतिया से झांके – झुके। ।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया से केकरा लागी।

हम तोहसे पूछी बरतिया ए बरतिया से केकरा लागी।

के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी।

के करेलू छठ बरतिया से केकरा लागी।

हमरो जे बेटी तोहन बेटिया से उनके लागी।

हमरो जे बेटी तोहन बेटिया से उनके लागी।

से  करेली  छठ बरतिया से उनके लागी।

से करेली छठ बरतिया से उनके लागी।

3.– आठ ही के काठ के कोठरिया

CHHATH GEET LYRICS

आठ ही के काठ के कोठरिया  हो दीनानाथ , रूपे छा~ने लागल केवाड़।

आठ ही के काठ के कोठरिया हो दीनानाथ , रूपे छा~ने लागल केवाड़।

ताहि ऊपर चढ़ी सुतले हो दीनानाथ बांझी केवडूवा धइले ठाड़।

ताहि ऊपर चढ़ी सुतले हो दीनानाथ बांझी केवडूवा धइले ठाड़।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

पुत्र संकट पडल , मोरा हो दीनानाथ ओहिला केवडूवा धईले ठाड़।

पुत्र संकट पडल , मोरा हो दीनानाथ ओहिला केवडूवा धईले ठाड़।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

नैना संकट पड़ल मोरा हो दीनानाथ ओहिला केवडुआ धईले ठाड़।

नैना संकट पड़ल मोरा हो दीनानाथ ओहिला केवडुआ धईले ठाड़।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

चदर उघारी जब देखले हो दीनानाथ , कौन संकट पडल तोहार।

काया संकट पडल मोरा हो दीनानाथ ,ओहिला केवडुआ धईले ठाड़।

काया संकट पडल मोरा हो दीनानाथ ,ओहिला केवडुआ धईले ठाड़।

बांझीनी के पुत्र जब , दिहले दीनानाथ खेलत-कुदत घर जात।

बांझीनी के पुत्र जब , दिहले दीनानाथ खेलत-कुदत घर जात।

अन्हरा के आंख दिहले कोढ़िया के कायावा हसत बोलत घर जात।

अन्हरा के आंख दिहले कोढ़िया के कायावा हसत बोलत घर जात।


4. सोना सट कुनिया हो दीनानाथ

CHHATH GEET LYRICS

सोना सट कुनिया, हो दीनानाथ
हे घूमइछा संसार, हे घूमइछा संसार
सोना सट कुनिया, हो दीनानाथ
हे घूमइछा संसार, हे घूमइछा संसार

आन दिन उगइछ हो दीनानाथ
आहे भोर भिनसार, आहे भोर भिनसार

आजू के दिनवा हो दीनानाथ
हे लागल एती बेर, हे लागल एती बेर

बाट में भेटिए गेल गे अबला
एकटा अन्हरा पुरुष, एकटा अन्हरा पुरुष

अंखिया दियेते गे अबला
हे लागल एती बेर, हे लागल एती बेर

बाट में भेटिए गेल गे अबला
एकटा बाझिनिया, एकटा बाझिनिया

बालक दियत गेल गे अबला
हे लागल एती बेर, हे लागल एती बेर। ।


5. उगहे सूरज देव भेल भिनसरवा

CHHATH GEET LYRICS

उगहे सूरज देव भेल भिनसरवा

अरघ के रे बेरवा हो पूजन के रे बेरवा हो

बड़की पुकारे देव दुनु कर जोरवा

अरघ के रे बेरवा हो पूजन के रे बेरवा हो। ।१

बाझिन पुकारें देव दुनु कर जोरवा

अरघ के रे बेरवा हो पूजन के रे बेरवा हो

अन्हरा पुकारे देव दुनु कर जोरवा

अरघ के रे बेरवा हो पूजन के रे बेरवा हो। । २

निर्धन पुकारे देव दुनु कर जोरवा

अरघ के रे बेरवा हो पूजन के रे बेरवा हो

कोढ़िया पुकारे देव दुनु कर जोरवा

अरघ के रे बेरवा हो पूजन के रे बेरवा हो। । ३

लंगड़ा पुकारे देव दुनु कर जोरवा

अरघ के रे बेरवा हो पूजन के रे बेरवा हो

उगह हे सूरज देव भेल भिनसरवा


अरघ के रे बेरवा हो पूजन के रे बेरवा हो। ।४

निहित शब्द सरल रूप में – उगहे सूरज देव – हे सूर्यदेव आप उदय हो। भेल भिनसरवा – सुबह हो गया है। अरघ के रे बेरवा – अर्घ देने का समय है। दुनु कर जोरवा – दोनों हाथ जोड़कर।

6.नारियलवा जे फरेला खबद से

CHHATH GEET LYRICS

नारियलवा जे फरेला खबद से
ओह पर सुगा मेड़राए…. २
ऊ जे ख़बरी जनैबो अदित से
सुगा दिहली जुठियाय…. २
ऊ जे मारबो रे सुगवा धनुख से
सुगा गिरे मुरझाए…. २
ऊ जे केरवा जे फरेला खबद से
ओह पर सुगा मेड़राए…. २
ऊ जे ख़बरी जनैबो अदित से
सुगा दिहली जुठियाय…. २

ऊ जे मारबो रे सुगवा धनुख से
सुगा गिरे मुरझाए…. २

अमरुदवा जे फरेला खबद से
ओह पर सुगा मेड़राए…. २
ऊ जे ख़बरी जनैबो अदित से
सुगा दिहली जुठियाय…. २

ऊ जे मारबो रे सुगवा धनुख से
सुगा गिरे मुरझाए…. २

ऊ जे सेववा जे फरेला खबद से
ओह पर सुगा मेड़राए
ऊ जे ख़बरी जनैबो अदित से
सुगा दिहली जुठियाय…. २

ऊ जे मारबो रे सुगवा धनुख से
सुगा गिरे मुरझाए…. २

सभे फलवा जे फरेलन खबद से
ओह पर सुगा मेड़राए
ऊ जे ख़बरी जनैबो अदित से
सुगा दिहली जुठियाय…. २

ऊ जे मारबो रे सुगवा धनुख से
सुगा गिरे मुरझाए…. २

ऊ जे सुगनी जे रोवेली वियोग से
आदित होई ना सहाय
आदित होई ना सहाय
आदित होई ना सहाय
देव होई ना सहाय
आदित होई ना सहाय
देव होई ना सहाय

नारियर जे फरेला खबद से
ओह पर सुगा मेड़राए
ओह पर सुगा मेड़राए
ऊ जे ख़बरी जनैबो अदित से
सुगा दिहली जुठियाय
सुगा दिहली जुठियाय

7.पहिले पहिले हम कईनी छठ गीत

CHHATH GEET LYRICS

पहिले पहिले हम कईनी

छठी मईया व्रत तोहार

छठी मईया व्रत तोहार १

करिह क्षमा छठी मईया

भूल चुक गली हमार

भूल चुक गली हमार २

गोदी के बलकवा के दिह

छठी मईया ममता दुलार

छठी मईया ममता दुलार ३

पिया के सनेहिया बनहिय

मईया दिह सुख सार

मईया दिह सुख सार ४

नारियर केरवा घोउदवा

साजल नदिया किनार

साजल नदिया किनार ५

सुनिह अरज छठी मईया

बढ़े कुल परिवार

बढ़े कुल परिवार ६

घाट सजावाली मनोहर

मईया तोर भगति आपार

मईया तोर भगति आपार ७

लिहिएं अरगिया हे मईया

दिहीं आशीष हजार

दिहीं आशीष हजार ८

पहिले पहिले हम कईनी

छठी मईया व्रत तोहार

छठी मईया व्रत तोहार। । ९

करिह क्षमा छठी मैया

भूल चुक गली हमार

भूल चुक गली हमार

मईया तोर भगति आपार ७

लिहिएं अरगिया हे मईया

दिहीं आशीष हजार

दिहीं आशीष हजार ८

पहिले पहिले हम कईनी

छठी मईया व्रत तोहार

छठी मईया व्रत तोहार। । ९

करिह क्षमा छठी मैया

भूल चुक गली हमार

भूल चुक गली हमार


8. भोरवे में नदिया नहाईला आदित मनाईला हो

CHHATH GEET LYRICS

भोरवे में नदिया नहाईला आदित मनाईला हो

बाबा फूलवा अक्षतवा चढ़ाईला सब गुण गाईला हो

(बाबा फूलवा अक्षतवा चढ़ाईला सब गुण गाईला हो) १

अस धरवाईब सईया अन्हरिया से बोझिल हो

बाबा अँगने में मांगीला अंजोर ई मथवा नवाईला हो

(बाबा अँगने में मांगीला अंजोर ई मथवा नवाईला हो) २

गजमोती चउका पुराईला अंचरा बिछाईला हो

बाबा अँगने में फूलवा तs लागेला फलवा न खाईला हो

(बाबा अँगने में फूलवा तs लागेला फलवा न खाईला हो) ३

ताना देके कहेले गोतीनिया ई बाँझ बा बहिनिया नु हो

बाबा सुनी सुनी बोलिया गोतीनिया मो लोरवा बहाईला हो

(बाबा सुनी सुनी बोलिया गोतीनिया मो लोरवा बहाईला हो) ४

चुप रहु धीर करूँ दुखिया ना सुन रही कोखिया नु हो

बस आजु के नव ये महिनावा होरिला मुस्काईला हो

(बस आजु के नव ये महिनावा होरिला मुस्काईला हो) ५

बाबा फूलवा अक्षतवा चढ़ाईला सब गुण गाईला हो

(बाबा फूलवा अक्षतवा चढ़ाईला सब गुण गाईला हो) ६

9.Ho Deenanath Lyrics – Sharda Sinha

Sona sat kuniya oh dinanath
Eh gumaicha sansar
Eh gumaicha sansar

Sona sat kuniya oh dinanath
Eh gumaicha sansar
Eh gumaicha sansar

Aan din ugayicha oh dinanath
Aahey bhor bhinsaar
Aahey bhor bhinsaar

Aajo ke dinwa oh dinanath
Eh laagal aeti bair

Baat me betiya gail gey abla
Ekta anhara purush
Ekta anhara purush

Ankhiyan diyate gey abla
Ah lagal eti bair
Eh lagal eti bair

Baat mai bhetiya gail gey abla
Ekta bhajiniya
Ekta bhajiniya

Balak diyete ge abla
Eh lagal eti bair
Eh lagal eti bair

Baat me betiya gail gey abla
Ekta khoriya purush
Ekta khoriya purush

Kayawa diyaitey gey abla
Eh lagal eti bair
Eh lagal eti bair
Eh lagal eti bair
Eh lagal eti bair

10.Uga Hai Suraj Dev Lyrics – Anuradha Paudwal – Chatth Song Lyrics – छठ के गीत

Uga Hai Suraj Dev is another Chatth Puja Special Song which is old folk song of Bihar and the song has been sung by Anuradha Paudwal.

Chhath Pooja Geet: Uga Hai Suraj Dev
Album: Chhath Geet
Singer: Anuradha Paudwal

Uga Hai Suraj Dev Lyrics

Uga he suraj dev
Bhel bhin sarwa
Arag ke re berwa
Pujan ke re berwa hoo

Barati pukare dev
Dunu kar jorwa
Arag ke re berwa
Pujan ke re berwa hoo

Bajhin pukare dev
Dunu kar jorwa
Arag ke re berwa
Pujan ke re berwa hoo

Aanhara pukare dev
Dunu kal jorwa
Arag ke re berwa
Pujan ke re berwa hoo

Aaaaaa aaaaa

Nirdhan pukare dev
Dunu kar jorwa
Arag ke re berwa
Pujan ke re berwa hoo

Kodhiya pukare dev
Dunu kar jorwa
Arag ke re berwa
Pujan ke re berwa hoo

Langra pukare dev
Dunu kar jorwa
Arag ke re berwa
Pujan ke re berwa hoo

Ugha he suraj dev
Bhel bhin sarwa
Arag ke re berwa
Pujan ke re berwa hoo

13.Kelva Ke Paat Par Lyrics – Sharda Sinha – Chatth Song Lyrics – छठ के गीत

Kelva Ke Paat Par LYRICS is a very old lok-geet of historic popular in bihar devoted to Sun God sung by one and only Sharda Sinha and lyrics are penned by Sharda Sihna, Naresh Sinha, Vikal Samastipuri, Ram Sakal Singh from very old album Chaathi Maiya

Chhath Geet: Kelva Ke Paat Par
Album: Chaathi Maiya
Singer: Sharda Sinha
Composer: Sharda Sinha

Kelva Ke Paat Par Lyrics 

Kelwa ke paat par
Uugeylan surajmal jhake jhukey
Kelwa ke paat par
Uugeylan surajmal jhake jhukey

Ae karelu chaath baratiya se jhake jhukey
Ae karelu chaath baratiya se jhake jhukey

Humto se puchi baratiya ae baratiya se kekra laagi
Humto se puchi baratiya ae baratiya se kekra laagi

Ae karelu chaath baratiya se kekra laagi
Ae karelu chaath baratiya se kekra laagi

Humro je betawa kawan aisan betawa
Se unke laagi
Humro je betawa kawan aisan betawa
Se unke laagi
Ae karelu chaath baratiya se unke laagi
Ae karelu chaath baratiya se unke laagi

Amrudiya ke paat par
Uugeylan surajmal jhake jhukey
Amrudiya ke paat par
Uugeylan surajmal jhake jhukey

Ae karelu chaath baratiya se jhake jhukey
Ae karelu chaath baratiya se jhake jhukey

Humto se puchi baratiya ae baratiya se kekra laagi
Humto se puchi baratiya ae baratiya se kekra laagi

Ae karelu chaath baratiya se kekra laagi

Ae karelu chaath baratiya se kekra laagi

Humro je swami kawan aisan swami
Se unke laagi
Humro je swami kawan aisan swami
Se unke laagi
Ae karelu chaath baratiya se unke laagi
Ae karelu chaath baratiya se unke laagi

Nariyar ke paat par
Uugeylan surajmal jhake jhukey
Nariyar ke paat par
Uugeylan surajmal jhake jhukey

Ae karelu chaath baratiya se jhake jhukey
Ae karelu chaath baratiya se jhake jhukey

Humto se puchi baratiya ae baratiya se kekra laagi
Humto se puchi baratiya ae baratiya se kekra laagi

Ae karelu chaath baratiya se kekra laagi
Ae karelu chaath baratiya se kekra laagi

Humro je beti kawan aisan betiya
Se unke laagi
Humro je beti kawan aisan betiya
Se unke laagi
Ae karelu chaath baratiya se unke laagi
Ae karelu chaath baratiya se unke laagi

14.Chhaathi Maiya Aai Na Duariya Lyrics-Sharda Sinha – Chatth Song Lyrics – छठ के गीत


Chhaathi Maiya Aai Na Duariya Lyrics is a very old lok-geet of historic popular in bihar devoted to Sun God sung by one and only Sharda Sinha and lyrics are penned by Vinay Bihari and composed by Sharda Sinha from very old album Sakal Jagtarni Hey Chhathi Maiya

Album: Sakal Jagtarni Hey Chhathi Maiya
Singer: Sharda Sinha
Composer: Sharda Sinha
Lyrics: Vinay Bihari
Music Label: T-Series

Chhaathi Maiya Aai Na Duariya Lyrics

Chhathi maiya aayi na duaariya
Sajaib pokhri khanaib
Chhathi maiya aayi na duaariya
Sajaib pokhri khanaib

Naariyar kelwa kesharwa chaddayi
Naariyar kelwa kesharwa chaddayi

Chhathi maiya gaayiya ke dudwa
Dharaib aarag diaayib hai

Chhathi maiya gaayiya ke dudwa
Dharaib aarag diaayib hai

Chhathi maiya aayi na duaariya
Sajaib pokhri khanaib

Dalwa dauarwa supa tee chaadyaib
Dalwa dauarwa supa tee chaadyaib

Chhaathi maiya kalsa ke diyara jarayib
Piyaari hodaaib
Chhaathi maiya kalsa ke diyara jarayib
Piyaari hodaaib

Chhathi maiya aayi na duaariya
Sajaib pokhri khanaib

Neerdhan bajele ro ro pukare
Neerdhan bajele ro ro pukare

Chhaathi maiya aan-dhan dihi
Sundar putra ki godiya khilaayib
Chhaathi maiya aan-dhan dihi
Sundar putra ki godiya khilaayib

Chhathi maiya aayi na duaariya
Sajaib pokhri khanaib

Jabley jiyab maiya dehab aaragiya
Jabley jiyab maiya dehab aaragiya

Chhaathi maiya bina assish satal pari
baar-juraaib
Chhaathi maiya bina assish satal pari
baar-juraaib

Chhathi maiya aayi na duaariya
Sajaib pokhri khanaib
Chhathi maiya aayi na duaariya
Sajaib pokhri khanaib

15.Hey Chhathi Maiya Lyrics – Sharda Sinha – Chatth Song Lyrics- छठ के गीत

The famous chatthi maiya song Hey Chathhi Maiya Lyrics is from the song sung by Sharda Sinha and also been composed by her.
Devi Bhajan: Hey Chhathi Maiya
Album: Chhathi Maiya
Singer: Sharda Sinha
Composer: Sharda Sinha

Hey Chhathi Maiya Lyrics 

Patna ke ghat par humhu arajiya debai, he chhathi maiya

Hum na jaeeb dusar ghaat dekhab ye chhathi maiya …
Sup lel thad bad dom dominiya, dekhab hey chhathi maiya
Wahi supi arag devay, dekhab hey chhathi maiya…
Ful lele thad bad maliya maliniya , dekhab hey chhathi maiya
Wahi fule harwa gothay, dekhab hey chhathi maiya…
Kela seb nariyal kin gayini bajariya, dekhab hey chhathi maiya
Wattahi lagal badi der, dekhab hey chhathi maiya…
Bhul chuk humari maiya, rakhab na dhiyaniya, dekhab hey chhathi maiya
Humaro aragiya dehab maan , dekhab hey chhathi maiya…
Patna ke ghat par humhu arajiya debai, he chhathi maiya
Hum na jaeeb dusar ghaat dekhab ye chhathi maiya…


16.Maarbo Re Sugqa Dhanukh Se Lyrics

Nariyalwa jab fareyla ghavadh se
Ohwpar shuga mereraye
Ohwpar shuga mereraye

Khabri janayibo adit se
Shuga dihan jhutiyae
Shuga dihan jhutiyae

Ujey marbo re shugawa dhanuk se
Shuga girey mura chaye
Shuga girey mura chaye

Ujey kerawa je farey laga ghavadh se
Ohpar shuga mereraye
Ohpar shuga mereraye

Ojey khabri janaibo adit se
Shuga dihan jhutiyae
Shuga dihan jhutiyae

Ujey marbo re shugawa dhanuk se
Shuga girey mura chaye
Shuga girey mura chaye

Amrudhwa farey laga ghavadh se
Ohpar shuga mereraye
Ohpar shuga mereraye

Ujey khabri janaibo adit se
Shuga dihan jhutiyae
Shuga dihan jhutiyae

Ujey marbo re shugawa dhanuk se
Shuga girey mura chaye
Shuga girey mura chaye

Ujey shaibwa farey laga ghavadh se
Ohpar shuga mereraye
Ohpar shuga mereraye

Ojey khabri janaibo adit se
Shuga dihan jhutiyae
Shuga dihan jhutiyae

Ujey marbo re shugawa dhanuk se
Shuga girey mura chaye
Shuga girey mura chaye

Sabhey fal je fareylan ghavadh se
Ohpar shuga mereraye
Ohpar shuga mereraye

Ujey marbo re shugawa dhanuk se
Shuga girey mura chaye
Shuga girey mura chaye

Ujey shugni je roweyle viyug se
Aadit hoyi na sahaye
Aadit hoyi na sahaye
Deva hoyi na sahaye
Aadit hoyi na sahaye
Deva hoyi na sahaye

छठ पूजा का अपना ही महत्व है, छठ पूजा पूरे हरसोउल्लास के साथ भारत देश के 
कइ राज्यों में मनाया जाता है।
इस त्योहार में वर्त कर्ता कठीन उपवास रखते हैं।

Movi/Album        Song Tital/lyrics
Kati patengpyar diwana hota hai lyrics
Bhakti lyricsHanuman Chalisa lyrics In Hindi
Daag 1973Mere Dil Me Aaj kya Hai Lyrics Hindigeetmala
MarjaavaanKinna Sona Hindi Song
Mr.ex in bombyMere Mehboob Qayamat Hogi Hindi Song
Krishnakrishna bhajans in hindi lyrics
Pal Pal Dil..Pal Pal Dil Ke Paas Lyrics in Hindi
Roi NaRoi Na Hindi Song
AradhnaMere Sapno Kee Rani Hindi Song
FilhalFilhal lyrics hindi and english

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ